चिंता का सबब बन सकती है तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की चोट

चिंता का सबब बन सकती है तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की चोट

mohamad-shamiमुंबई। चोट के चलते प्रतिभाशाली विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा तथा ओपनर लोकेश राहुल के इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज के दौरान पहले ही टीम से बाहर रहने के बाद अब तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का भी चोटिल होना टीम के लिये चिंता का सबब बन गया है।
सीरीज में भारतीय टीम की मौजूदा स्थिति को देखें तो टीम इंडिया सीरीज में दो मैच जीतकर कहीं बेहतर स्थिति में है लेकिन फार्म में चल रहे खिलाडियों का चोटिल होकर बाहर होना टीम की मुश्किलें बढ़ा सकता है। शमी इस समय शानदार लय में हैं और उमेश यादव के साथ उन्होंने इंग्लिश बल्लेबाजों को परेशान किया है। शमी के न खेलने की स्थिति में टीम का गेंदबाजी आक्रमण कहीं न कहीं प्रभावित होगा।
मोहाली में तीसरे टेस्ट के पहले चयनकर्ताओं ने बची सीरीज के लिये टीम का चयन किया था जिसमें उन्होंने गौतम गंभीर पर राहुल को तरजीह दी थी लेकिन राहुल जल्द ही चोटिल होकर टीम से बाहर हो गये थे। गंभीर और राहुल की अनुपस्थिति में टीम को मान्यता प्राप्त ओपनर की कमी निश्चित रूप से खलने वाली है। 
नोटबंदी पर उच्च न्यायालय ने आरबीआई सहित चार से जवाब मांगा
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के एक अधिकारी ने बताया कि शमी को हैमस्ट्रिंग की शिकायत है। उनका खेलना संदिग्ध है। हालांकि टीम में पांच तेज गेंदबाजों की मौजूदगी से बहुत अधिक चिंता की बात नहीं है लेकिन राहुल के न खेलने से मुरली विजय के ओपनिंग जोड़ीदार के विषय में जरूर चिंता की बात है। खुद पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली का मानना है कि किसी भी सीरीज के लिये कम से कम तीन विशेषज्ञ ओपनर जरूर होने चाहिये।बीसीसीआई अधिकारी ने कहा कि लंबे समय बाद टीम में वापसी करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल आठ दिसंबर से शुरू हो रहे चौथे टेस्ट में भी खेलेंगे और वह दूसरे ओपनर की कमी पूरी कर सकते हैं। हालांकि चेतेश्वर पुजारा से भी ओपनिंग कराई जा सकती है। उल्लेखनीय है कि पार्थिव ने आठ साल बाद टीम में जगह बनाते हुये मोहाली टेस्ट की दोनों पारियों में क्रमश: 42 तथा 67 रन बनाये थे।
add-royal-copy
 

Share it
Top