चमकदार त्वचा के लिए उपचार

चमकदार त्वचा के लिए उपचार

खूबसूरत दिखना सभी को अच्छा लगता है, विशेषकर टीन्स की उम्र में। उस समय उनके रोल मॉडल अभिनेत्रियां और माडल्स होती हैं। अभिनेत्रियां और माडल्स तो महंगे ब्यूटी प्राडक्ट्स खरीद कर प्रयोग में लाती हैं और पार्लर में जाकर ब्यूटी ट्रीटमेंट्स लेती हैं। इतना खर्च करना सबके लिए संभव नहीं होता तो ऐसे में निराशा न होकर अपनी दिनचर्या में कुछ छोटी छोटी बातें शामिल कर अपनी खूबसूरती को बढ़ा सकती हैं।
त्वचा की नमी का रखें ध्यान:-

त्वचा की खूबसूरती का राज है त्वचा की उचित नमी। अंदर और बाहर दोनों जगह में नमी का ध्यान रखना जरूरी है। चेहरे को कम से कम दो बार ठंडे पानी से धोना चाहिए। गर्म पानी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है । उससे रोमछिद्र खुल जाते हैं और धूल मिट्टी जमा हो जाती है। ठंडा पानी त्वचा के रोमछिद्र बंद रखता है और चेहरे की सफाई भी हो जाती है।
त्वचा उचित रूप से सांस ले सके, उसके लिए नियमित अंतराल पर त्वचा को एक्सफोलिएट करें। स्क्रब बनाने के लिए एक चम्मच ओट्स में, आधा चम्मच चंदन पाउडर, टमाटर का गूदा, कच्ची हल्दी और दही मिलाएं, मिश्रण को त्वचा पर लगाकर हल्का रगड़ें। ऐसा करने से त्वचा कोमल होगी और रंगत भी बढ़ेगी।
स्वयं को सूरज की तेज किरणों से बचा कर रखें:-

प्रात: 7 से 9 बजे तक की धूप त्वचा के लिए बहुत अच्छी होती है। उसके बाद की तेज किरणें त्वचा को झुलसा सकती हैं। 9 बजे के बाद पराबैंगनी किरणें शक्तिशाली होती जाती हैं जो त्वचा की सतह तक पहुंच कर नुकसान पहुंचाती हैं। अगर धूप में जाना भी पढ़े तो छाता, चश्मा और बाजुओं पर दुपट्टा फैलाकर जाएं। धूप में ज्यादा समय बाहर रहने से त्वचा कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है।
त्वचा की टैनिंग अवश्य करें:-
टैनिंग करने से त्वचा साफ और सुंदर रहती है। टोनर का प्रयोग त्वचा की सफाई करने के तुरंत बाद किया जाना चाहिए ताकि त्वचा का पीएच संतुलन बना रह सके। टोनर से त्वचा को फैटी एसिड, ग्लिसरीन,एंटी ऑक्सीडेंट्स मिलते हैं जिससे त्वचा ताजगी भरी मुलायम और जवां बनी रहती है। टोनर कोशिकाओं के बीच खाली जगह को भरकर त्वचा में कसावट बना कर रखता है और त्वचा पूरी तरह साफ और स्वस्थ रहती है।
कुत्ता वफादार ही नहीं, घातक भी

तनाव को रखें दूर:-
तनाव बस हमारे शरीर को बीमारियों के अतिरिक्त कुछ नहीं देता, इसलिए उससे दूरी बनाना जरूरी है। कुछ तनाव तो जीवन के साथ रहते हैं। उनके साथ जीना सीख लेना चाहिए उन तनावों को कभी भी अपने पर हावी न होने दें। तनाव से बचने के लिए पर्याप्त नींद लें और मौसम अनुसार दिन में एक या दो बार नहाएं। तनाव शरीर में ऐसे हार्मोन्स पैदा करता है जो शरीर में तेल का निर्माण अधिक करते हैं जिससे तैलीय त्वचा वालों को व्हाइट हैड्स ज्यादा होते हैं।
मेकअप जरूर हटाएं:-
मेकअप का सहारा कभी न कभी समारोहों के लिए सबको लेना पड़ता है। याद रखें जब भी मेकअप करें, सोने से पहले क्लीजिंग मिल्क की सहायता से उसे जरूर साफ करें और फिर अच्छे फेसवॉश से चेहरा धोएं। ऐसा करने से चेहरे की त्वचा मुरझाएंगी नहीं।
विटामिन सी का सेवन:-
विटामिन सी का सबसे बड़ा न्नेत रसदार फल होते हैं जैसे आम, संतरा, मौसमी,नींबू, स्ट्राबेरी, पपीता, अनानास, अमरूद, आंवला आदि। इन फलों में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होती है। विटामिन सी के सेवन से त्वचा की मृत कोशिकाओं को ठीक कर उसके रूखेपन को कम करता है।
कोशिकाओं की मरम्मत करने में मदद करता है जिससे त्वचा में चमक बनी रहती है। फलों का सेवन करने से त्वचा में अंदर से निखार आता है और झुर्रियां भी कम होती हैं।
इसके अतिरिक्त इन्हें भी अपनाकर त्वचा में निखार ला सकती हैं:-गर्भावस्था में स्वस्थ कैसे रहें…जानिए?

तैलीय त्वचा के लिए:-
चंदन पाउडर, मुल्तानी मिट्टी में चुटकी भर हल्दी मिलाकर नारियल पानी से पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को 10-15 मिनट तक चेहरे पर लगा रहने दें। फिर पानी से धो लें, त्वचा खिली खिली लगेगी।
शुष्क त्वचा के लिए:-
चिरौंजी को कुछ समय हेतु दूध में भिगोकर रखें। फिर इसे पीसकर चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट बाद चेहरा धो लें। यह एक अच्छा पैक है। इससे चेहरे में ताजगी और चमक आएगी।
सामान्य त्वचा के लिए:-

उंगलियों को गर्म पानी से धोकर उन पर शहद लगाकर चेहरे और गर्दन पर लगाएं, आंखों को बचा कर रखें। 5 -10 मिनट के बीच चेहरा गुनगुने पानी से धो लें। त्वचा में नरमी आ जाएगी।
मिश्रित त्वचा के लिए:-
एक अंडे में आधा चम्मच संतरे का रस, एक चौथाई चम्मच जैतून का तेल, गुलाब जल और एक छोटा चम्मच मुल्तानी मिट्टी मिलाकर चेहरे पर लगाएं और छोड़ दें। सूख जाने पर चेहरा ताजे पानी से धो लें।
– मेघा

Share it
Top