खिलाड़ी बनाकर अनाथ बेटी का भविष्य सवांरेगी सुधा

खिलाड़ी बनाकर अनाथ बेटी का भविष्य सवांरेगी सुधा

रायबरेली। अंतराष्ट्रीय धाविका और एशियाड गोल्ड मेडलिस्ट सुधा सिंह ने एक अनाथ बेटी को गोद लेकर अपनी ही तरह खिलाड़ी बनाकर उसका भविष्य संवारने का बीड़ा उठाया है।
उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले मे गत दिवस सड़क हादसे में मारे गए शिवराम की अनाथ हुई बेटी प्रीति की भविष्य संवारने के लिए एथलीट सुधा सिंह ने भी हाथ बढाया है। सुश्री सुधा सिंह ने आज बताया कि उन्होंने उसके परिजनों से प्रीति को एथलीट बनाने का प्रस्ताव किया है। उन्होंने बताया कि अगर वे तैयार हुए तो उसे अभी से खेल के प्रशिक्षण से जोड़ा जाएगा।
सहारनपुर में हुए जातीय संघर्षों के मुख्य आरोपी और भीम आर्मी का अध्यक्ष गिरफ्तार
गौरतलब है कि मिल एरिया थाने के गढी खास निवासी शिवराम, उसकी पत्नी, दो बेटियों और एक एक साल के बेटे की सड़क हादसे में बीती 29 मई को मृत्यु हो गई थी। शिवराम की छह साल की बेटी प्रीति अपने मौसी के यहां थी जिससे वह बच गयी। प्रीति अब अपनी दादी के साथ रह रही है। अंतराष्ट्रीय धाविका सुधा सिंह ने अपने प्र्रवास के दौरान कहा कि प्रीति मे खेल प्रतिभा है और वह हर संभव मदद करने के लिए तैयार हैं। पहले उसे रायबरेली में ही प्रशिक्षित कर हॉस्टल से जोड़कर एथलीट बनाया जाएगा। उन्होने कहा कि इस अनाथ बच्ची की सहायता कर उन्हे अपार खुशी होगी।

Share it
Top