खाली दिमाग शैतान का घर!

खाली दिमाग शैतान का घर!

markandey-katju
सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कन्डेय काटजू ने फिल्मी दुनिया के शहंशाह अमिताभ बच्चन के बारे में लिखा है कि उनके दिमाग में कुछ नहीं है मतलब वह खाली है। बकौल काटजू ‘एक अच्छे अभिनेता होने के अलावा, अमिताभ में क्या है?क्या उन्होंने देश की विशाल समस्याओं के हल के लिए कोई वैज्ञानिक सुझाव दिया है? कोई नहीं। समय-समय पर वे मीडिया चैनल पर आकर ज्ञान और प्रवचन देते हैं। कई बार उन्हें अच्छा काम करते हुए दिखाया जाता है, लेकिन जब ढेरों रूपये हों तो ऐसा कौन नहीं कर सकता?’ काटजू के इस बयान पर अमिताभ ने भी मान लिया कि उनका दिमाग तो वाकई खाली है, इसलिए वो उनके सामने हाथ जोड़कर खड़े हो जाएंगे। अब कौन नहीं जानता कि हमारे देश में एक बड़ी पुरानी कहावत है कि ‘खाली दिमाग शैतान का घर।’ इसलिए काटजू जी बताएं कि इस खाली दिमाग में किस शैतान ने कब्जा कर रखा है ताकि उसे हटाकर अमिताभ जी अपने इस्तेमाल में ले सकें।

Share it
Share it
Share it
Top