क्रिएटिव दुनिया में बनायें कैरियर

क्रिएटिव दुनिया में बनायें कैरियर

फिश्ची-केपीएमजी की एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय एनिमेशन, वीएफएक्स और गेमिंग इंडस्ट्री काफी तेजी से आगे बढ़ रही है। वर्ष 2016 में एनिमेशन इंडस्ट्री में ग्रोथ रेट 13.8 प्रतिशत तक रहा। देखा जाए तो आज भारत एनिमेशन की दुनिया में काफी आगे निकल चुका है। पहले एनिमेशन-वीएफएक्स का इस्तेमाल कार्टून फिल्मों के लिए होता था लेकिन अब इसका दायरा काफी बढ़ चुका है। फिल्म, विज्ञापन, शिक्षा आदि में भी 3डी एनिमेशन और बीएफएक्स का इस्तेमाल होने लगा है। आज प्रशिक्षित पेशेवरों की मांग केवल भारत में ही नहीं, बल्कि विदेशी एनिमेशन स्टूडियो में भी खूब है।
आजकल फिल्मों में 3डी एनिमेशन और वीएफएक्स यानी विजुअल इफेक्ट्स का बड़े स्तर पर इस्तेमाल होने लगा है। ‘जंगल बुक’, ‘बाहुबली’, ‘बाजीराव मस्तानी’, ‘कृष’ आदि जैसी फिल्मों में भी इस तकनीक का खूब इस्तेमाल हुआ है। यह तेजी से ग्रो कर रही इंडस्टी है, जिसमें क्रिएटिव लोगों के लिए काफी स्कोप है।
क्रिएटिव लोगों के लिए: अगर आप क्रिएटिव हैं तो इस क्षेत्र में आपके आगे बढऩे के अवसर बहुत ज्यादा हैं। 3डी एनिमेशन और वीएफएक्स के आने के साथ यह इंडस्ट्री सिर्फ उन्हीं लोगों तक सीमित नहीं रह गई है जो चीजों का केवल बाहरी खाका खींच सकते हैं। एनिमेशन से जुड़ी तकनीकी बारीकियों की समझ आपके लिए काफी महत्त्वपूर्ण साबित हो सकती है। इसमें कंप्यूटर की जानकारी, 2डी, 3डी एनिमेशन तकनीक के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है। इसलिए इसमें नई तकनीक को जानने की इच्छा रखने वाले प्रोफेशनल्स के लिए आगे बढऩे का काफी मौका होता है। एनिमेशन के बढ़ते दायरे को देखते हुए कई ऐसे इंस्टीट्यूट्स हैं, जहां शॉर्ट टर्म डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करने के बाद इस क्षेत्र में आगे बढ़ा जा सकता है। इनमें वीडियो प्रॉडक्शन, ग्राफिक डिजाइन, मोशन ग्राफिक्स, कैमरा ट्रैकिंग, फिल्म रेस्टोरेशन जैसी तमाम तकनीक के बारे में सिखाया जाता है।
3डी एनिमेशन व वीएफएक्स: 3डी एनिमेशन सॉफ्टवेयर है और इस पर आधारित कोई फिल्म बनाने के लिए कैरेक्टर्स के एनिमेशन तैयार किए जाते हैं। इसके अलावा, फिल्म से जुड़े कुछ अन्य पहलुओं, जैसे लाइटिंग, स्क्रिप्ट, डायनेमिक्स, वॉइस रेकॉर्डिंग, डिजिटल एडिटिंग के कॉम्बिनेशन से एक एनिमेशन फिल्म तैयार होती है। दरअसल 3डी स्टूडियो मैक्स, माया, सॉफ्ट इमेज सॉफ्टवेयरों की मदद से रियल लाइफ इमेज बनाए जाते हैं। इसमें तीन डाइमेंशन(एक्स, वाई, जेड) होते हैं।
एनिमेशन में कई तरह की तकनीक उपयोग में लाई जाती हैं जिनमें पारंपरिक एनिमेशन, स्टॉप मोशन एनिमेशन, क्लेमेशन आदि प्रमुख हैं। वीएफएक्स को स्पेशल इफेक्ट्स भी कहा जाता है। यह भी एनिमेशन का हिस्सा होता है। वीएफएक्स का सबसे ज्यादा इस्तेमाल फिल्म इंडस्ट्री में होता है। वीएफएक्स का क्षेत्र जितना दिखता है, उससे कहीं ज्यादा विस्तृत है। इस क्षेत्र में ज्यादातर समय वीएफएक्स आर्टिस्ट की डिमांड बनी रहती है। इस क्षेत्र में कोरल ड्रॉ, एडोब इलेस्ट्रेटर, एडोब ऑफ्टर इफेक्ट्स, माया, मेंटल रे जैसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल होता है।
योगी कैबिनेटः तबादला नीति को मिली हरी झंडी, 24 जनवरी को मनाया जाएगा यूपी स्थापना दिवस
जॉब प्रोफाइल: एनिमेशन क्षेत्र में आप मॉडलर, स्टोरी बोर्ड आर्टिस्ट, कैरेक्टर एनिमेटर, बैक ग्राउंड आर्टिस्ट, लेआउट आर्टिस्ट, 2डी एनिमेटर, 3डी एनिमेटर, स्पेशल इफैक्ट्स आर्टिस्ट, स्कैनर ऑपरेटर, कम्पोजिंटिंग आर्टिस्ट, ऑडियो-वीडियो स्पेशलिस्ट, टेक्सचर आर्टिस्ट, रिगिंग आर्टिस्ट, क्लीनअप आर्टिस्ट, लाइटिंग आर्टिस्ट, की फ्रेम एनिमेटर, इमेज एडिटर, इन-बिटवीन एनिमेटर आदि के रूप में किसी भी
प्रोफाइल के तहत अपना कैरियर बना सकते हैं।
सैलरी पैकेज: इस क्षेत्र में शुरूआती दौर में प्रोफेशनल्स को 15 से 25 हजार रूप्ए प्रति माह सैलरी मिलने लगती है। अनुभव हासिल करने के बाद कुछ वर्षों में ही सैलरी 40 से 50 हजार रूप्ए तक पहुंच जाती है। एंटरप्रेन्योर के रूप में काम करके आप और अधिक कमा सकते हैं। अगर आप इसे बतौर पार्ट टाइम जॉब करना चाहते हैं तो भी 10 से 12 हजार रूपए प्रति माह मिल सकते हैं।
यात्रियों के साथ रेलवे कर्मचारी कर रहे खिलवाड़…ट्रेनों के परिचालन संबंधी गलत जानकारी देकर कर रहे गुमराह, अंबाला सेक्शन कंट्रोलर गलत समय करता है फीड
बाजार में मांग: एनिमेशन एक ऐसा कैरियर है, जिसमें संभावनाओं की कमी नहीं है। डिजिटल दौर में अलग-अलग क्षेत्रों में एनिमेशन के बढ़ते इस्तेमाल के कारण इस क्षेत्र में तेजी से नौकरियां बढ़ रही हैं। फिल्मों के अलावा गेमिंग, वेब डिजाइनिंग, मेडिकल, प्रिंटिंग, रियल एस्टेट आदि क्षेत्रों में एनिमेशन का काफी इस्तेमाल हो रहा है। आज पोस्ट प्रोडक्शन हाउस, स्टूडियो, टीवी चैनलों, विज्ञापन एजेंसियों, वेब कंपनियों और गेम्स इंडस्ट्री में एनिमेशन से जुड़ी नौकरियां खूब होती हैं।
देखा जाए तो एनिमेशन और वीएफएक्स का सबसे ज्यादा इस्तेमाल फिल्म इंडस्ट्री में होता है। साथ ही, एड वर्ल्ड में विजुअल इफेक्ट्स का इस्तेमाल बढऩे लगा है। नए जमाने की स्मार्ट क्लास में बच्चों को सिखाने वाले वीडियोज में भी एनिमेशन-वीएफएक्स का इस्तेमाल किया जाता है। इन दिनों गेमिंग भी उभरता हुआ क्षेत्र है। इसमें वीएफएक्स का खूब इस्तेमाल होता है। इस क्षेत्र में आज कई बड़ी कंपनियां मैदान में हैं। इसमें क्रिएटिव लोगों के लिए खूब मौके होते हैं।
जॉब के अलावा आप इस क्षेत्र में एंटरप्रेन्योर भी बन सकते हैं। कोर्स के बाद या कुछ अनुभव हासिल करने के बाद आप प्रोडक्शन हाउस या फिर स्टूडियो खोलने का विकल्प भी होता है। आप चाहें तो फ्रीलांसिंग या पार्ट टाइम जॉब भी कर सकते हैं। एनिमेशन- वीएफएक्स पेशेवर के लिए मुंबई, बेंगलुरू, हैदराबाद, पुणे जैसे शहरों में जॉब के खूब अवसर होते हैं।

Share it
Top