क्यों होती है स्किन एलर्जी

क्यों होती है स्किन एलर्जी

एलर्जी किसी भी व्यक्ति को किसी भी उम्र में और किसी भी चीज से हो सकती है। जब हमारा शरीर किसी पदार्थ के प्रति अति संवेदनशीलता दर्शाता है तो इसे एलर्जी कहा जाता है और जिस पदार्थ के प्रति प्रतिक्रिया दर्शाई जाती है उसे एलर्जन कहा जाता है।
अगर त्वचा पर चकत्ते उभर आएं, त्वचा का रंग लाल हो जाए या फिर उसमें खारिश होने लगे तो समझ जाएं कि आप स्किन एलर्जी की चपेट में आ गए हैं।
आइए जानें किन किन चीजों से स्किन एलर्जी ज्यादा होती है।
हवा से एलर्जी – कई लोगों को मौसम के बदलाव से भी ऐसी समस्या हो सकती है। मौसम में बदलाव के समय पर्यावरण में परागकण होते हैं जो आंख, कान, नाक और फेफड़ों से हवा में मौजूद इन चीजों के संपर्क में आने पर कुछ लोगों को इनसे एलर्जी हो कसती हे। एलर्जी होने पर आंखें लाल होना, खारिश होने, नाक बहना, एग्जीमा, अस्थमा का दौरा पडऩे की शिकायत हो सकती है। फेफड़ों में म्यूकस बन जाना खांसी और सांस लेने में समस्या भी हो सकती है। इन सब तरह की एलर्जी में हवा में पाए जाने वाले परागकण होते हैं। कभी कभी तेज आंधी चलने पर भी मिट्टी वाली हवा नाक फेफड़ों में जाती है जो एलर्जी का कारण होती है।
बहुत सी महिलाएं माथे पर चिपकाने वाली बिंदी का प्रयोग करती हैं। नकली धातु के आभूषण पहनती हैं तो उन्हें एलर्जी हो जाती है। चश्मे के फ्रेम से, प्लास्टिक के स्ट्रैप और सेंट आदि के प्रयोग से भी त्वचा पर खारिश होती है जिससे त्वचा पर दाने निकल आते हैं और त्वचा में सूजन हो सकती है।
खानपान से एलजीर्:- बहुत से लोगों को खाने पीने की चीजों जैसे दूध, अंडा, मछली, चाकलेट आदि से एलर्जी होती है। इसमें पेट दर्द, पेट में भारीपन, उल्टियां, डायरिया, त्वचा में जलन व खारिश होने की शिकायत हो सकती है।
कपड़ों से एलर्जी :- बहुत से लोगों को कपड़ों से भी एलर्जी होती है। सिंथेटिक कपड़े, कपड़ों पर इस्तेमाल होने वाले रंग या डाई से और धुले कपड़ों से साबुन पूरी तरह से ना निकलने पर त्वचा में एलर्जी हो सकती है। कभी कभी टाइट अंडरगार्मेन्टस भी एलर्जी का कारण बनते हैं। कपड़ों को धूप में सुखाएं और प्रेस कर कपड़े ही पहनें।
कैमिकल्स एलर्जी:- किसी भी सौंदर्य प्रसाधन में प्रयोग होने वाले कैमिकल्स त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं जिससे त्वचा पर रैशेज पड़ जाते हैं और खुजली, जलन हो सकती है। इसलिए कोई भी ब्यूटी प्राडक्ट प्रयोग में लाने से पूर्व उसे त्वचा के छोटे से भाग ंमें लगाकर जांच कर लें। इसी प्रकार पानी में भी कई ऐसे रसायन होते हैं जो त्वचा द्वारा सीधे सोख लिए जाने से त्वचा एलर्जी का कारण बनते हैं। पानी में मिली क्लोरीन त्वचा, आंखों और बालों को नुकसान पहुंचाती है। अगर आप स्विमिंग की शौकीन हैं तो स्विमिंग के उपरांत ताजे पानी से जरूर नहाएं। पानी की कमी भी त्वचा में झुर्रियां उत्पन्न करती है।
एलर्जी से बचाव:-
एलर्जी से बचाव ही एलर्जी का सर्वोत्तम इलाज है इसलिए एलर्जी से बचने के लिए इन उपायों का पालन करना चाहिए।
– घर में और घर के आस-पास गंदगी न होने दें।
– घर में अधिक से अधिक खुली और ताजा हवा आ सके, इसके लिए दिन में खिड़की दरवाजे खोल कर रखें।
– गद्दे, रजाई, तकिये के कवर एवं चद्दर को समय समय पर गर्म पानी से धोएं। गद्दों और तकियों को धूप लगवाते रहें।
– किसी-किसी मामले में एलर्जी के प्रभाव को कम करने के लिए इंजेक्शन दिए जाते हैं। डाक्टर की सलाह अनुसार चलें।
– किसी भी तरह की एलर्जी रोकने के लिए अधिक से अधिक पानी जरूर पिएं।
– ताजे फल सब्जियां और घर का बना ताजा खाना ही खाना चाहिए।
– गर्मियों के मौसम में छाछ, नींबूपानी और फलों के रस का सेवन करें।
– इसके अलावा रैशेज वाली जगह पर कैलामाइन लोशन लगायें।
एलर्जी से बचने के लिए घरेलू उपाय:-
– दही में थोड़ी सी हल्दी मिलाकर चकत्तों पर लगाएं और सूखने पर धो दें।
– नींबू के रस में नारियल तेल मिलाकर पूरी रात लगे रहने दें।
– चकत्ते वाले हिस्से पर आलिव ऑयल लगाएं।
– दही में मुल्तानी मिट्टी मिलाकर त्वचा पर हल्का लेप करें। सूखने पर नहा लें।
– शिवांगी झाँब

Share it
Top