कैमरे की नजर में ‘आप’

कैमरे की नजर में ‘आप’

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के मंत्री और विधायक लगातार आरोपों में घिरते और कानूनी दांव-पेंच में फंसते चले जा रहे हैं। अभी तक के तमाम रिकॉर्ड को तोड़ते हुए दिल्ली में आप के 12 विधायकों पर कानूनी कार्रवाई की जा चुकी है, इससे परेशान आम आदमी पार्टी के विधायक अब मांग कर रहे हैं कि उनके दफ्तरों और घरों के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएं। ताकि कोई विवाद खड़ा होने पर सही जानकारी हासिल की जा सके।
प्रधानमंत्री मोदी कुंभकर्ण की नींद सो रहे थे !
संभवतः यह पहला अवसर है जबकि किसी पार्टी के नेता इस कदर सहमें और डरे हुए हैं कि स्वयं को कैमरे की नजर में चौबीसों घंटे रखने को तैयार दिख रहे हैं। इसे कहते हैं राजनीति के दांव-पेंच जिसमें अच्छे-अच्छे दिमाग वाले भी उलझ कर रह जाते हैं। कम से कम मुख्यमंत्री केजरीवाल और उनके पार्टी के मंत्री व विधायक तो यही मानते होंगे।

Share it
Top