किट-किट की आवाज़ आ रही थी…

किट-किट की आवाज़ आ रही थी…

किट-किट की आवाज़ आ रही थी ….पत्नी (जागकर) :-
“देखो जी,
चूहे कपड़े कुतर रहे हैं.?”पति (कांपते हुए) :-
“सारी रजाई तो तूने खीच ली…….
मेरे ही दाँत किटकिटा रहे हैं..!”

Share it
Top