कांवड यात्रा की सभी तैयारियां पूरी....जमीं से आसमां तक रहेगी कड़ी सुरक्षा

कांवड यात्रा की सभी तैयारियां पूरी....जमीं से आसमां तक रहेगी कड़ी सुरक्षा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के नवनियुक्त अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने आज कहा कि कांवड यात्रा के दौरान सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किये गये हैं और इसके लिए सीसीसीटीवी, वॉच टावर और ड्रोन का प्रयोग किया जायेगा। मेरठ में कार्यभार ग्रहण करने के बाद लखनऊ पहुंचे श्री कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उनकी पहली प्राथमिता कानून एवं व्यवस्था को सुदृढ करना है। कानून व्यवस्था को पूरी तरह से चुस्त दुरूस्त किया जाएगा। यह एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। वह पूरी निष्ठा के साथ इस दायित्व का निर्वहन करेंगे। उन्होंने बताया कि कानून व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल जरुरी है। कुछ लोग सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करते हैं। ऐसे तत्वों पर कडी नजर रखी जा रही है। भ्रष्टाचार के मामलों में जांच के बाद दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कडी कार्रवाई होगी। श्री कुमार ने बताया कि आगामी दस जुलाई से विशेष तौर पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सावन के पहले सोमवार से 22 जुलाई तक कांवड यात्रा चलेगी।


http://www.royalbulletin.com/देवबंद-में-माफियाओं-द्वा/

इसके लिए सुरक्षा एवं अन्य सभी तैयारी लगभग पूरी कर ली गई हैं। कांवडियों की सुरक्षा व्यवस्था के लिए उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश की पुलिस संयुक्त रुप से व्यवस्था कर रही है। दोनों राज्यों के अधिकारियों की इस संबंध में बैठक भी हो चुकी है। श्री कुमार ने बताया कि देश और प्रदेश के विभिन्न भागों से मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, हरिद्वार और बिजनौर के रास्ते इस बार चार से पांच करोड़ कांवडियों के हरिद्वार पहुंचने की संभावना है। कांवड सुरक्षा के लिए मेरठ जोन की पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बलों की करीब 27 कंपनियों को तैनात किया जा रहा है। कांवड यात्रा पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे की मदद भी ली जायेगी। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी कैमरों और वॉच टावर स्थापित किए जा रहे हैं। सुरक्षा के लिए 3० अधिकारियों के अलावा करीब 2००० सिविल पुलिस और होमगार्ड भी लगाये जा रहे हैं। कांवडियों की भीड़ को देेखते हुए 16/17 जुलाई की रात से मेरठ से हरिद्वार मार्ग पर यातायात परिवर्तन किया जायेगा। यह व्यवस्था जलाभिषेक तक रहेगी। मेरठ में 78 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे काम कर रहे हैं।


http://www.royalbulletin.com/police-officer-dr-richa-agnihotri/

यूपी डायल 1०० सुविधा की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश है कि कावंडियों को यात्रा मार्ग में किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो। सड़क मार्ग गड्डामुक्त हो, बिजली, पानी और चिकित्सा दुरूस्त हो, साथ ही खाने की व्यवस्था भी ठीक हो। मुख्य रुप से मुजफ्फरनगर के शिवचौक तक कांवडियों की भीड रहती है। उसके बाद उनकी संख्या में कमी होना शुरु हो जाती है। श्री कुमार ने कांवड यात्रा एक महायज्ञ की तरह है और इसमे सभी का सहयोग जरुरी है। कांवडियों की भीड़ के मद्देनजर अनेक स्थानों पर भारी वाहनों के प्रवेश में पाबंदी रहेगी।

Share it
Top