कहानी : तेनालीराम की परीक्षा

कहानी : तेनालीराम की परीक्षा

tenaliram
एक बार महाराजा कृष्णदेव को उनके मित्र एक मुगल बादशाह का संदेश मिला कि वे कुछ दिनों के लिए तेनालीराम को उनके दरबार में भेज दें ताकि वे भी उसकी हाजिर जवाबी देख सकें और कुछ पुरस्कार दे सकें। महाराजा कृष्णदेव ने तेनाली को कुछ दिनों के लिए मुगल बादशाह की सेवा में जाने की इजाजत दे दी।  उधर मुगल बादशाह ने सभी दरबारियों को सख्त हिदायत दे दी कि कोई भी तेनालीराम के कारनामों पर खुश नहीं होगा और उसे हम बिना इनाम दिए ही खाली हाथ लौटा देंगे। अगली प्रात: तेनाली मुगल बादशाह के दरबार में पहुंचा और लगा अपनी चतुराई दिखाने। तेनाली ने कई तरह से बादशाह और दरबारियों को हंसाने की कोशिश की मगर वो सब तो बिल्कुल ही गुमसुम थे। अगले दिन भी ऐसा ही हुआ। अब तो तेनाली भी सारा माजरा समझ गया कि महाराज मुझे इनाम दिए बिना ही खाली हाथ लौटाने की चाल चल रहे हैं। अगली दिन सुबह मुगल बादशाह अपने एक सेवक के साथ नगर भ्रमण को निकले। उनके पास सिक्कों भरी कुछ थैलियां भी थीं। वो जब नगर से थोड़ी दूर गए तो देखा कि एक बुजुर्ग एक जगह आम का पौधा लगा रहा था। बादशाह ने उससे पूछा, ‘बाबा, यह क्या कर रहे हो।’आम का वृक्ष लगा रहा हूं।  बाबा बोला ‘लेकिन तुम तो यह पौधा बड़ा होते देख नहीं पाओगे। इसके आम तुमको खाने को नहीं मिलेंगे।` बादशाह बोले।
कथा: डूबती लड़की की प्राण रक्षा

‘यदि हमारे बुजुर्गों ने भी यही सोचा होता तो आज हम मीठे आम नहीं खा सकते थे।` बाबा बोला। बादशाह को उसका जवाब बहुत पसंद आया और उसने एक थैली सिक्कों भरी उसको इनाम के रूप में दे दी। ‘बादशाह, सलामत रहें। जैसे यह सोना खरा है वैसे ही महाराज आपका यश भी खरा है।` बाबा बने तेनाली ने कहा। बादशाह ने यह सुना तो वो और प्रसन्न हो गया। उसने एक और सिक्कों की थैली पुरस्कार स्वरूप तेनाली को दे दी। तभी तेनाली हाथ जोड़कर खड़ा हो गया और अपना भेष उतार दिया।
‘अरे तेनाली, तुम।` बादशाह चौंक पड़े। ‘जी बादशाह सलामत। आपके इनाम को पाने के लिए थोड़ा-सा भेष बदलना पड़ा। खाली हाथ विजयनगर जाता तो बड़ी बदनामी होती। आपने तो पुरस्कार न देने की कसम ही खा ली थी। ‘सच तेनाली, तुम विजयनगर और महाराजा कृष्णदेव के दरबार की शान हो। इसके बाद बाहशाह ने और भी पुरस्कार देकर तेनाली को विदा किया।दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे..

Share it
Top