कस्में वादे प्यार वफा सब शिवपाल के लिए…..और राज?

कस्में वादे प्यार वफा सब शिवपाल के लिए…..और राज?


समाजवादी पार्टी में मची घमासान के बीच शिवपाल यादव का दर्द सामने आ गया है। दरअसल शिवपाल ने एक सार्वजनिक कार्यक्रम में जो नगमा गुनगुनाया उसका यही मतलब है कि कसमें वादे प्यार वफा सब उनके लिए हैं लेकिन जब बात राजपाट की आती है तो अखिलेश आड़े आ जाते हैं। यही वजह है कि जब आपात अधिवेशन में शिवपाल से प्रदेश अध्यक्ष का पद छीना गया तो उनके सुरों से दर्द का नगमा छलक पड़ा। दर्दभरे लहजे में शिवपाल ने गुनगुनाया ‘कसमें वादे प्यार वफा सब बाते हैं बातों का क्या कोई किसी का नहीं है, झूठे नाते हैं नातों का क्या!’ और अपने दर्द को बयां कर दिया। इस कार्यक्रम में शिवपाल के चेहरे पर मुस्कुराहट देखने वालों को काश उनके सीने में छुपे बवंडर भी दिखाई दे जाते तो शायद काम बन जाता।

Share it
Share it
Share it
Top