कम्प्यूटर की जानकारी होना है आवश्यक…बच्चे का कम्प्यूटर ज्ञान बढ़ाने में करें सहयोग ..!

कम्प्यूटर की जानकारी होना है आवश्यक…बच्चे का कम्प्यूटर ज्ञान बढ़ाने में करें सहयोग ..!

  आज के परिवेश में बच्चों के लिए कम्प्यूटर की जानकारी होना आवश्यक बनता जा रहा है अत: बच्चों को इससे अपरिचित रखना ठीक नहीं। वैसे आज के दौर में अभिभावक अपने बच्चों के कैरियर के प्रति काफी जागरूक हैं।
माता-पिता बच्चे को कम्प्यूटर ज्ञान पर ध्यान दें व उसे सिखाने में रूचि लें। उसे कम्प्यूटर सिखाते समय कुछ बातों को ध्यान में रखें-
– बच्चे को कम्प्यूटर के बेसिक ज्ञान दें व उसे उपयोगी चीजों की जानकारी दें। कम्प्यूटर में कई ऐसे खेल या एक्टिविटीज होती हैं जिनसे बच्चा काफी कुछ सीख सकता है अत: बच्चे के मानसिक विकास को बढ़ाने वाली इन गेम्स की तरफ अवश्य ध्यान दें।
बड़े काम के हैं… ये किचन टिप्स

– यह सदैव ध्यान में रखें कि बच्चा कम्प्यूटर में ऐसे खेल न खेले जो उसके लिए हानिकारक हों, जैसे कम्प्यूटर में कई कार्ड गेम्स होते हैं जिनसे बच्चा जुआ खेलना सीख सकता है या हिंसा और लड़ाई के खेल जिनसे बच्चे को युद्ध आदि में रचाए जाने वाले षडय़ंत्रों की जानकारी प्राप्त हो सकती है। ऐसे खेल उसे कदापि न खेलने दें।
– कम्प्यूटर को उसके समय बिताने का जरिया न बनने दें। यदि वह अपना पूरा खाली समय कम्प्यूटर पर गेम्स खेलने में बिताने लगेगा तो उसका शारीरिक व मानसिक विकास अवरूद्ध हो जाएगा क्योंकि ऐसे में वह आउटडोर गेम्स से बिलकुल विमुख हो जाएगा जो उसके शारीरिक विकास के लिए आवश्यक होती हैं।
– जब बच्चा कम्प्यूटर पर गेम्स खेल रहा हो तो कुछ समय आप भी उसके साथ बिताएं। कम्प्यूटर पर पारिवारिक साइट्स की खोज करें जो बच्चे को परिवार के साथ तालमेल बिठाने में मदद कर सकें।
फेफड़ों की सफाई का प्राकृतिक उपाय है खांसी

– अगर बच्चा अधिक समय कम्प्यूटर पर बैठता है तो उसे समझाएं कि इससे उसके शरीर पर बुरा असर पड़ सकता है और वह मोटापे का शिकार हो सकता है।
– कम्प्यूटर को ऐसे स्थान पर रखें जहां पर्याप्त रोशनी आती हो। बच्चे को हर 20-25 मिनट बाद आई ब्रेक लेने को कहें। अधिक देर तक बैठने पर उसे इससे आंखों पर होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में बताएं।
– जब बच्चे को कम्प्यूटर पर गेम्स खेलने की अनुमति दें तो पहले इन्हें खुद चैक कर लें।
– भाषणा बांसल

Share it
Share it
Share it
Top