कमजोर आँकड़ों से गिरा बाजार

कमजोर आँकड़ों से गिरा बाजार

मुंबई – नोटबंदी के बाद विनिर्माण क्षेत्र की रफ्तार धीमी पड़ने तथा वाहनों की बिक्री में आयी सुस्ती के कारण आज घरेलू शेयर बाजार चार सत्र की तेजी खाते हुये लाल निशान में बंद हुये।
बीएसई का सेंसेक्स 92.89 अंक लुढ़ककर 26,559.92 अंक पर तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 31.60 अंक की गिरावट में 8,192.90 अंक पर बंद हुआ। निक्केई द्वारा आज जारी आँकड़ों के अनुसार, विनिर्माण क्षेत्र का पीएमआई सूचकांक अक्टूबर के 54.4 से गिरकर नवंबर में 52.3 पर रह गया। इसके अलावा नवंबर में वाहनों की बिक्री में भी सुस्ती देखी गयी।
ये दोनों आँकड़े नोटबंदी के बाद की अर्थव्यवस्था पर जारी पहले आँकड़े हैं। इससे निवेशकों का विश्वास कमजोर हुआ।
अधिकतर समूहों में गिरावट देखी गयी। वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों और बुधवार को जारी दूसरी तिमाही के जीडीपी के बेहतर आँकड़ों के दम पर सेंसेक्स 103.85 अंक की बढ़त में 26,756.66 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 26,769.32 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुँचने में कामयाब रहा। लेकिन, आर्थिक आँकड़े आने के बाद बाजार पर दबाव बढ़ा और निवेशकों ने बिकवाली शुरू कर दी। इससे सेंसेक्स 26,540.82 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया।
कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस की तुलना में 0.35 प्रतिशत यानी 92.89 अंक नीचे 26,559.92 अंक पर बंद हुआ।
मझौली तथा छोटी कंपनियों में भी गिरावट रही।मिडकैप 1.15 प्रतिशत तथा स्मॉलकैप 0.64 प्रतिशत की गिरावट के साथ क्रमश: 12,355.03 अंक तथा 12,250.42 अंक पर रहे। निफ्टी भी 19.50 अंक की तेजी के साथ 8,244 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 8,250.80 अंक के दिवस के उच्चतम तथा 8,185.05 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.38 प्रतिशत यानी 31.60 अंक टूटकर 8,192.90 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,815 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इसमें 1,118 हरे निशान में तथा 1,562 लाल निशान में बंद हुये। वहीं, 135 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे। एनएसई में 1,511 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 496 बढ़त में तथा 975 गिरावट में रहे जबकि 40 में कोई बदलाव नहीं हुआ।
add-royal-copy
 

Share it
Top