उप्र में दूसरे चरण का चुनाव प्रचार थमा…15 फरवरी को होगा मतदान

उप्र में दूसरे चरण का चुनाव प्रचार थमा…15 फरवरी को होगा मतदान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बिजनौर, रामपुर, मुरादाबाद, बरेली तथा बदायूं जैसे संवेदनशील माने जा रहे क्षेत्रों में राज्य विधानसभा के दूसरे चरण का चुनाव प्रचार आज शाम थम गया।
राज्य विधानसभा की 11 जिलों की 67 विधानसभा सीटों पर आगामी 15 फरवरी को होने वाले मतदान के लिये चुनाव प्रचार थम गया है । दूसरे चरण में मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी(सपा)-कांग्रेस गठबंधन के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होने की उम्मीद की जा रही है। इस चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 11 जिलों के 2.60 करोड मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे । चुनाव में अधिकतर सीटों पर मुस्लिम वोट हार जीत में मुख्य भूमिका निभायेंगे। करीब 70 फीसदी सीटों पर 30 प्रतिशत से अधिक मुस्लिम मतदाता हैं। केवल रामपुर जिले में 70 प्रतिशत मुस्लिम आबादी है। 
राजनीतिक दलाें ने 15 सीटों पर 64 मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया है जिसमें सपा-कांग्रेस, बसपा, राष्ट्रीय लोकदल तथा अन्य दल शामिल हैं। दूसरे चरण में बेहट, नकुड, सहारनपुर नगर, सहारनपुर, देवबंद, रामपुर मनिहारन(सु) गंगोह, नजीबाबाद, नगीना(सु), बढापुर, धामपुर, नहटौर(सु), बिजनौर, चांदपुर, नूरपुर, कांठ, ठाकुरद्वारा, मुरादाबाद ग्रामीण, मुरादाबाद नगर, कुंदरकी, बिलारी, चंदौसी (सु), असमौली, संभल, गुन्नौर, स्वार, चमरव्वा, बिलासपुर, रामपुर, मिलक (सु), बहेडी, मीरगंज, भोजीपुरा, नवाबगंज, फरीदपुर(सु), बिथरीचैनपुर, बरेली, बरेली कैंट, आंवला, धनौरा (सु), नौगांव सादात, अमरोहा, हसनपुर, पीलीभीत, बरखेडा, पूरनपुर(सु), बिलासपुर, पलिया, निघासन, गोला गोकर्णनाथ, श्रीनगर(सु), धौरहरा, लखीमपुर, कस्ता (सु), मोहम्मदी, कटरा, जलालाबाद, तिलहर, पुवायां(सु), शाहजहांपुर, ददरौल, बिसौली(सु), सहसवान, बिल्सी, बदायूं, शेखपुर और दातागंज क्षेत्रों में 15 फरवरी को सुबह सात बजे से मतदान होगा। 
वर्ष 2012 के राज्य विधानसभा चुनाव में 67 सीटों में से सपा ने 34, बसपा ने 18, भाजपा ने दस, कांग्रेस ने तीन तथा अन्य ने दो पर जीत दर्ज की थी। उत्तराखंड से लगे जिलों तथा रूहेलखंड क्षेत्रों में दूसरे चरण में मतदान होगा।
उप्र में दूसरे चरण का चुनाव 15 फरवरी को..यहां मुस्लिम मतदाताओं की भूमिका महत्वपूर्ण!
इन क्षेत्रों के आसपास के इलाको में पहले चरण में हुए चुनाव में जमकर मतदान हुआ था जबकि उत्तराखंड में चुनाव दूसरे चरण के साथ 15 फरवरी को होगा।दूसरे चरण के चुनाव में 67 सीटों के लिये 721 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं।
इसमें 15 प्रतिशत प्रत्याशियों के खिलाफ अापराधिक मामले दर्ज हैं जबकि 36 प्रतिशत करोड़पति प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।
चुनाव में कानून व्यवस्था और विकास राजनीतिक दलों का मुख्य एजेंडा है। भाजपा ने चुनाव में सांप्रदायिक दंगे, मुजफ्फरनगर दंगे, स्लाटर हाऊस जैसे मुद्दों को उठाया है। दूसरे दलों ने भी केन्द्र सरकार तथा भाजपा के खिलाफ धर्मनिपेक्ष का मामला उठाकर घेरने की कोशिश की है। दूसरे चरण में संवेदनशील बिजनौर, संभल, रामपुर, मुरादाबाद, बरेली और बदायूं जिलों में मतदान होगा। चुनाव प्रचार के लिये सभी दलों ने अपने बडे नेताओं को उतारा है। धर्मनिरपेक्ष कही जाने वाली पार्टियों ने मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में जमकर चुनाव प्रचार किया । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिजनौर और बदायूं में जनसभायें कर चुके हैं।
कई केन्द्रीय मंत्री भी इस चरण में जनसभायें कर चुके हैं। बसपा अध्यक्ष मायावती, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ले कई जनसभायें की, जबकि सपा अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अमरोहा और संभल में कल आठ जनसभाओं को संबोधित किया।
लखीमपुर खीरी में मोदी ने कहा, अखिलेश जी! मायावती का घोटाला दबाने के बदले में क्या मिला?
कन्नौज संसदीय सीट से सपा सांसद एवं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव, जानीमानी अदाकारा एवं सपा राज्यसभा सांसद जया बच्चन कई जनसभाओं को संबोधित कर चुकी हैं। दोनों ने कल लखीमपुर में जनसभा को संबोधित किया। पहले और दूसरे चरण के चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनकी पुत्री प्रियंका गांधी और मुलायम सिंह यादव ने प्रचार में हिस्सा नहीं लिया। राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) ने दूसरे चरण के चुनाव में 40 प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है।
पार्टी अध्यक्ष अजित सिंह और उनके पुत्र जयन्त यादव उनके स्टार प्रचारकों में शामिल थे। काफी लम्बे समय बाद रालोद ने किसी पार्टी से गठबंधन नहीं किया है। पहली बार इस चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) ने प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारा है।

Share it
Share it
Share it
Top