आंख में धूल झोंकने का प्रयास

आंख में धूल झोंकने का प्रयास

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में ‘गोरक्षकों’ द्वारा मृत जानवरों का चमड़ा निकालकर जीवनयापन करने वाले दलित समुदाय के कुछ लोगों की बेरहमी से की गई पिटाई से भयभीत दलितों ने जहां अपने कारोबार के ठेकेदारों से सुरक्षा की मांग की, तो वहीं लखनऊ के अपर नगर आयुक्त अवनीश सक्सेना ने कहा कि ‘सारा मामला हमारे संज्ञान में है और हमने इस संबंध में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दर्ज करायी है।’ इस पर दलित नेता कहे रहे हैं कि अधिकारियों और नेताओं के इस प्रकार के बयान बताते हैं कि कथित गोरक्षक भले ही कानून को हाथ में लेते हुए गरीब और मजबूर कामगारों पर हमले करते रहें और उसके वीडियो फुटेज भी भले मिल जाएं लेकिन उनके खिलाफ कार्रवाई संभव नहीं है।
भ्रष्टाचार कहीं न कहीं पल रहा
गौरतलब है कि भाजपा से जुड़े संगठन और कुछ नेता इस प्रकार की मारपीट और उद्दंडता को सही करार दे चुके हैं, जिससे इन कथित गोरक्षकों के हौसले बुलंद हैं। दलित समुदाय के लोग कहते हैं कि उनके पास दो ही रास्ते बचे हैं या तो वो इस काम को सदा के लिए छोड़ दें या फिर धर्म परिवर्तन कर लें ताकि इस प्रकार होने वाली बार-बार की मारपीट से बचा जा सके।

Share it
Share it
Share it
Top