अवसाद देता है मधुमेह को न्योता

अवसाद देता है मधुमेह को न्योता

लंदन । अवसाद से ग्रस्त मरीज अन्य लोगों के मुकाबले जल्द ही मधुमेह की चपेट में आते हैं। अवसाद की वजह से मरीजों में मधुमेह ग्रसित होने का खतरा 60 गुणा बढ़ जाता है। किंग्स कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने अपने नये शोध में इसका पता लगाया है कि अवसाद और मधुमेह के वंशाणु समान होते हैं। ऐसे 87 प्रतिशत पुरूष, जो अवसाद और मधुमेह दोनों से ग्रस्त हैं, उसके पीछे उनके वंशाणुओं का ही हाथ है।
महिलाओं में वंशाणु का यह रिश्ता कम ही असर दिखाता है और 75 प्रतिशत ही ऐसे मामले सामने आये हैं, जब वे अवसाद और मधुमेह दोनों से ग्रसित हों। विशेषज्ञों को पहले से ही अवसाद और मधुमेह के संबंध का आभास था लेकिन वे इसे एक संयोग या जीवनशैली का असर मानते थे लेकिन नये शोध से पता चला है कि इसके लिए वंशाणु जिम्मेदार हैं। शोध से यह भी पता चला है कि मधुमेह से ग्रसित मरीज के अवसाद के शिकार होने का खतरा 15 प्रतिशत ही बढ़ता है।शोधकर्ताओं का कहना है कि इस शोध से ऐसी दवाओं को बनाने में मदद मिलेगी , जिससे दोनों का उपचार साथ ही हो सके।

Share it
Share it
Share it
Top