अमरनाथ ने खिलाड़ी संघ की समिति से दिया इस्तीफा

अमरनाथ ने खिलाड़ी संघ की समिति से दिया इस्तीफा

नयी दिल्ली। पूर्व भारतीय बल्लेबाज मोहिंदर अमरनाथ ने खिलाड़ी संघ बनाने के लिये गठित की गयी संचालन समिति के पद से इस्तीफा दे दिया है। अमरनाथ ने इसके पीछे अपने कमेंट्री को लेकर प्रतिबद्धताओं का हवाला दिया है। समझा जाता है कि पूर्व क्रिकेटर ने कमेंट्री और समिति की सदस्यता दोनों के लिये काम करने में असमर्थता जताते हुये पद से इस्तीफा दे दिया है। इस समिति के दो अन्य सदस्य पूर्व महिला क्रिकेटर डायना इडुलजी और अनिल कुंबले हैं। इडुलजी भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) की भी सदस्य हैं जबकि कुंबले ने हाल में भारतीय टीम के कोच पद से इस्तीफा दिया है। यहां यह तथ्य दिलचस्प है कि इडुलजी सीओए में अपने प्रशासक की भूमिका के चलते इस समिति से हट गयी हैं तो वहीं कुंबले ने साल भर पहले कोच पद संभालने के बाद इस समिति से नाम वापिस ले लिया था और अमरनाथ के भी हटने से केवल पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री और इस समिति के अध्यक्ष जीके पिल्लै इस समिति में एकमात्र सदस्य बचे हैं। 
सीओए अब इस स्थिति में सर्वाेच्च अदालत से निर्देश लेगा। सीओए के एक अधिकारी ने क्रिकइंफो से कहाÞ अब कोई संचालन समिति ही नहीं बची है तो हम आगे के कदम के लिये अदालत की मदद लेंगे। हम अदालत में पेश की जाने वाली अपनी स्थिति रिपोर्ट में इसकी जानकारी देंगे। अब देखना है कि उप समिति बनानी होगी या कोर्ट सीओए को ही इसका काम सौंपेगा। खिलाड़ी संघ बनाने के उद्देश्य से वर्ष 2016 के शुरूआत में इस संचालन समिति को गठित किया गया था। यह आरएम लोढा समिति की सिफारिशों का एक बिन्दू है।
विश्व हिंदू परिषद के नेता का एेलान..आजम खान की जुबान काटकर लाओ 50 लाख का इनाम पाओ..!
इस समिति का काम सभी योग्य पूर्व क्रिकेटरों की पहचान करना और उन्हें सदस्य बनने के लिये आमंत्रित करना, बैंक खाते खुलवाने, बीसीसीआई से कोष प्राप्त करना, पदाधिकारियों के लिये पहली बार चुनाव कराने और बोर्ड को बीसीसीआई तथा खिलाडियो से मनोनीत सदस्यों के नामों की जानकारी देना था। लोढा समिति के अनुसार खिलाडियो को अपने विचार रखने के लिये एक मंच दिया जाना जरूरी है। समिति ने खिलाडियो के कल्याण, बीमा, मेडिकल सुविधायें देने की भी सिफारिश की थी। हालांकि पहले बीसीसीआई ने इन सिफारिशों पर आपत्ति जताई थी लेकिन बाद में इसे विशेष आम बैठक में सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया गया था। अधिकारी ने बताया कि सीओए ने वैसे खिलाडियो के पंजीकरण के लिये पहले उप समिति बनाई थी। महाराष्ट्र क्रिकेट संघ के अभय आप्टे और बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी इस समिति के सदस्य हैं जिसमें फिलहाल तीन सदस्य हैं। बाद में इसमें दो और सदस्यों को शामिल किया जाएगा जिसमें कोई खिलाडियो का प्रतिनिधित्व करेगा। उन्होंने कहा कि जब तक खिलाडियो के लिये किसी संघ का गठन नहीं हो जाता है तब तक यही उप समिति सारा काम देखेगी और आधिकारिक खिलाड़ी संघ बनने के बाद इस उप समिति के दो सदस्यों को पैनल में शामिल किया जाएगा।

Share it
Top