अब एक बार फिर से पढ़ें… समझेंगे तो जरूर हँसेंगे…!!!

अब एक बार फिर से पढ़ें… समझेंगे तो जरूर हँसेंगे…!!!

वैवाहिक निमंत्रण पत्रिका का एक हास्य।आपकी उपस्थिती ही उपहार है,
कृपया उपहार ना लाएँ।अब एक बार फिर से पढ़ें…!!!
समझेंगे तो जरूर हँसेंगे…!!!—नहीं समझें?अरे, इसका मतलब है, आप ही उपस्थित ना हो.. 

Share it
Share it
Share it
Top