अपने बालों को बनायें चमकदार..एेसे बढ़ाएं केशों की चमक..!

अपने बालों को बनायें चमकदार..एेसे बढ़ाएं केशों की चमक..!

 पर्सनेलिटी को आकर्षक एवं मोहक बनाने में केशों का बहुत बड़ा योगदान होता है। चमकहीन केश व्यक्तित्व के आकर्षण को फीका बना देते हैं। चेहरा सुन्दर हो, मोहक व आकर्षक हो परंतु केश अगर फीके व धूमिल हों तो सम्पूर्ण व्यक्तित्व ही फीका-फीका नजर आने लगता है। केशों में चमक बढ़ाने के कुछ ऐसे उपाय यहां दिए जा रहे हैं जिनके प्रयोग से केशों में न केवल एक नई चमक आ सकती है बल्कि चमकहीन होने से भी उन्हें बचाया जा सकता है।
– केश अगर छोटे हों तो उनकी वृद्धि के लिए नियमित रूप से विटामिन ‘ए’ युक्त पोषक तत्वों का सेवन करिए। मछली, यकृत और सब्जियों में विटामिन ‘ए’ की भरपूर मात्रा मिल जाती है।
– स्वीमिंग पूल के नमकीन पानी में अधिक देर तक रहने से केशों के बाहरी आवरण की चमक नष्ट हो जाती है, इसलिए स्वीमिंग करने से पहले केशों को ताजे पानी से गीला कर लें। फिर उन्हें चिकना करने के लिए कंडीशनर लगाएं। उसके बाद स्वीमिंग कैप पहन लें। इससे केशों पर पूल के नमकीन पानी का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता।
– अगर आप धूप के संपर्क में ज्यादा रहती हों तो केशों को कवर करने के लिए हमेशा सिर पर कैप पहनें या रंग-बिरंगा रूमाल बांधें। विशेषकर कलरिंग किए हुए केशों को तो धूप के प्रभाव से बचाने के लिए ढक कर अवश्य ही रखना चाहिए।
स्वस्थ शरीर के लक्षण..अगर पैरों का रंग गुलाबी और चमड़ी भी गुलाबी हो तो आप स्वस्थ हैं..!

– कंडीशनर केशों को चमकदार बनाने में अहम् भूमिका निभाता है। यह सिर की त्वचा को अच्छी तरह से साफ रखता है। इसमें मौजूद प्रभावशाली तत्व प्रोटीन और माश्चराइजर केशों को स्वस्थ व मजबूत बनाते हैं। कंडीशनर कलरिंग किए हुए और कमजोर केशों को साफ रखने में भी सहायक होते हैं। अधिक कंडीशनर का प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे केश अधिक चिकने दिखाई देने लगते हैं।
– स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स अधिक लगाने से केश शुष्क एवं बेजान से हो जाते हैं इसलिए केशों को साफ करने के लिए ऐसे शैम्पू का प्रयोग करना चाहिए जो उन्हें अच्छी तरह से साफ रखे। इसके लिए कम पीएच लेवल वाला शैम्पू ही प्रयोग में लाना चाहिए। शैम्पू लगाने के बाद बालों को साफ पानी से अच्छी तरह धो लेना चाहिए।
– केशों में नियमित रूप से तेल की मालिश जरूर करें। कोई भी बढिय़ा तेल जैसे सनसिल्क हेयर ऑयल, रोजमेरी, आलिव आयल या नारियल तेल केशों की जड़ों तक लगाकर हल्के हाथों से मसाज करने से केशों की चमक बनी रहती है।
– दोमुंहे केशों से केश शुष्क नजर आते हैं इसीलिए केशों को चार-छ: हफ्ते के बाद ट्रिमिंग करा लेना चाहिए। इससे दोमुंहे केश नहीं होतेे। इसके अलावा गीले केशों में कंघी कभी नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे केश कमजोर बन जाते हैं। इससे केश टूटने भी लगते हैं।
– ध्यान रखें कि ब्लो ड्राइंग और हाट स्टाइलिंग उपकरणों की अधिक भाप लेने से केश नष्ट हो जाते हैं, इसलिए ब्लोवेविंग से पहले केशों में प्रोटेक्टिव स्टाइलिंग प्रोडक्ट जैसे जेल या मोउज लगाएं। इन स्टाइलिंग प्रक्रियाओं को कराते समय हीट कम तापमान पर ही लें। कैमिकल प्रक्रियाएं जैसे ब्लीचिंग, पर्मिंग, स्ट्रेटनिंग लगातार न करवाएं बल्कि थोड़े-थोड़े अंतराल पर ही कराएं क्योंकि लगातार कराने से केश दोमुंहे और शुष्क हो जाते हैं।
अति लाभकारी है खजूर..खजूर खाकर दूध पीने से वजन भी बढ़ जाता है.!

– बालों पर अधिक ब्रशिंग करने से बालों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। ब्रश की रगड़ से बाल फट व टूट जाते हैं और जड़ों में से भी बाल निकलने लगते हैं। अधिक ब्रशिंग करने से चंदिया की त्वचा उभर आती है। त्वचा के अंदर सिबेशियस ग्रंथियां एक स्राव सीबम स्रावित करती हैं जिससे त्वचा चिकनी हो जाती है व प्रकाश प्रतिबिम्बित करने लगती हैं और बालों की चमक बढ़ जाती है। अधिक ब्रशिंग करने से यह चमक समाप्त हो जाती है।
– शिकाकाई व एलोवेरा बालों को पोषण प्रदान करते हैं तथा बालों की स्वाभाविक चमक को बनाए रखते हैं। इनके नियमित प्रयोग से बालों को दृढ़ता भी मिलती है।
– संतुलित भोजन लेना आवश्यक है। प्रोटीन और कैल्शियमयुक्त पदार्थों का सेवन करें। फल और सब्जियां अधिक खाएं। इसके अलावा कम चरबी वाले, मीट, अंडे, डेरी प्रोडक्ट्स में लो फैट वस्तुएं व दूध, दाल और अंकुरित पदार्थों का
– पूनम दिनकर

Share it
Top