अनमोल वचन

अनमोल वचन

सेवा सहायता के महत्व को तो लगभग सभी जानते हैं, परन्तु उसके सही और गुह्य अर्थ को जानने का प्रयास कम लोग ही करते हैं। सेवा सहायता का अर्थ है निष्काम भाव से दूसरों को अपना सहयोग देना। उस सहायता तथा सहयोग से किसका उपकार होगा,  इसका कोई विशेष महत्व नहीं। भला किसी का भी हो सकता है, किन्तु उस सेवा सहायता के पीछे अपनी किसी स्वार्थ सिद्धि की भावना हो तो सेवा का भाव कमजोर हो जाता है। उसके प्रतिफल में कमी आ जाती है। पुण्य प्राप्ति की कामना करना बुरा नहीं, परन्तु स्वार्थ पूर्ति की भावना से की गई सेवा किसी भी पुण्य (शुभ) कार्य की श्रेणी में नहीं आती। महत्व निष्काम सेवा और निष्काम कर्म का है। निष्काम सेवा का तात्पर्य है बिना अपनी किसी स्वार्थ सिद्धि के परमार्थ की भावना से किया गया सेवा सहायता कार्य। निष्काम भाव के साथ यदि कोई व्यक्ति निरंतर कर्म करता रहे तो वह न केवल चित्त शुद्धि कर लेता है, बल्कि अशुभ कर्मों का विपाक कर पुण्य सम्पदा भी अर्जित कर लेता है।

Share it
Top