अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol-vachanसंसार में ज्यादा प्यासा कौन है, जो अधिक पानी पीये। ज्यादा दरिद्र कौन है, जो ज्यादा धन बटोर रहा है, क्योंकि धन की भूख उसे अधिक है और यह भूख भी ऐसी, जो कभी शांत नहीं होती। धन मिलता रहेगा, भूख बढती रहेगी। अधिक धन मिलते रहने से भी भूखा ही रहेगा अर्थात दरिद्रता छायी रहेगी। मानव सोचता है भौतिक सुख साधनों, कीर्ति और धन आदि को प्राप्त कर वह सुखी हो जायेगा, यह उसकी भूल है। जिस प्रकार घी से ज्वाला की अग्नि की अभिवृद्धि होती है, उसका शमन नहीं होता, उसी प्रकार अधिक भौतिक संसारिक सुख साधन मानव की आंतरिक शक्तियों को अधिक क्षीण कर देते हैं। वह मन की शांति में बाधक तथा जीवन में दुख भरने वाले हैं। उनसे सुख की कल्पना करना अज्ञानता है। अधिक से अधिक धन कमाकर धन की भूख को शांत करने का प्रयास न करें। अधिक सोकर नींद को जीतने का प्रयास न करें। अधिक कामोपभोग के द्वारा स्त्री को जीतने की इच्छा न करें। लकडी डालकर आग को जीतने की आशा न रखें और अधिक मदिरा पीकर मदिरा पीने के व्यसन को जीतने का प्रयास न करें।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयलunnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.

Share it
Top