अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol-vachan-logoसंसार के अधिकांश व्यक्ति अपने साथ किये गये दुर्व्यवहार अथवा अपमान को नहीं भूलते। उसे याद रखकर दुर्व्यवहार करने वाले से प्रतिकार लेना चाहते हैं और जब भी अवसर मिलता है, वे ऐसा करते भी हैं। भूलने और क्षमा करने का विचार उनके मन में आता ही नहीं, किन्तु कुछ व्यक्ति ऐसे भी होते हैं, जो ऐसे कृत्य को मूर्खतापूर्ण समझकर दुर्व्यवहारी को क्षमा कर देते हैं। नीति का वचन है कि जो क्षमा कर देता है, वह देवता है। जो अपने प्रति किये गये दुर्व्यवहार को याद तो करता है, परन्तु बदले की भावना मन में नहीं रखता। उसे याद रखकर भविष्य के लिये कुछ शिक्षा लेता है, वह महामानव है। साधारण व्यक्ति याद तो रखता है, किन्तु कालान्तर में उसे भूल भी जाता है। अवसर मिल जाये तो बदला भी ले लेता है। निम्न श्रेणी के लोग न कभी भूलते हैं, न क्षमा करने की सोचते हैं, बल्कि बदला लेने का अवसर खोजते रहते हैं और अवसर मिलते ही अपने इरादे को अमलीजामा पहना देते हैं।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयलunnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.]. 

Share it
Top