अनमोल वचन

अनमोल वचन

जीवन में यदि संतोष और धैर्य है तो सब कुछ स्वयं ही प्राप्त हो जाता है। किसी वस्तु को पाने के लिए लडना झगडना और चीख चिल्लाहट करना अच्छी बात नहीं, भगवान को कोसना भी अच्छी बात नहीं। जो चीज आपको मिलनी है वह मिलेगी उसके लिए हाय-तौबा और उतावली दिखाना बुद्धिमानी नहीं। धैर्य के साथ प्रयास किये जायेंगे तो वह चीज आप तक पहुंचने के लिए परिस्थितियां स्वत: ही निर्मित होती रहेगी। आपके पास योग्यता है, धैर्य-शीलता है तो परमात्मा आपको स्वयं अवसर देंगे। धैर्य-शीलता बहुत बडा पुरस्कार देती है। धैर्य के साथ नियमों पर चलने से (अनुशासन में रहने से) व्यक्तित्व निखरता है। इन दोनों के अभाव में जीवन में सफलता पाना असम्भव हो जाता है। जो धैर्यशील है, अनुशासित है वह दूसरों के लिए अपनी सफलताओं के कारण प्रेरणा स्रोत बन जाता है। जीवन के हर क्षेत्र में इन गुणों को धारण करने वाला बहुत कुछ पाता है, जबकि कुछ लोग दूसरों को देखकर वैसा ही बनने की उतावली में अनैतिक मार्ग पकडकर अपना जीवन नष्ट कर देता है। सच यह है कि धैर्य शीलता से सब कुछ मिलता है और जल्दबाजी में सब कुछ हाथ से चला जाता है।

Share it
Top