अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol-vachanरोटी का स्वाद वह जानता है जिसने परिश्रम करने के पश्चात लगी भूख के कारण ग्रास तोडकर मुंह में रखा हो। धन का उपयोग वह जानता है, जिसने पसीना बहाकर कमाया हो। सफलता का मूल्यांकन वही कर सकता है, जिसने अनेक कठिनाईयों, बाधाओं और असफलताओं से संघर्ष किया हो, जो विपरीत परिस्थितियों और बाधाओं के बीच मुस्कराते रहना और हर असफलता के बाद बढे उत्साह से आगे बढना जानता हो, वस्तुत: वही विजय लक्ष्मी का अधिकारी होता है, किन्तु जो लोग सफलता के मार्ग में होने वाले विलम्ब की धैर्यपूर्वक प्रतीक्षा नहीं कर सकते, जो अभीष्ट प्राप्ति के पथ में आने वाली बाधाओं से लडना नहीं जानते वे अपनी अयोग्यता और औछेपन को बेचारे भाग्य के ऊपर थोप कर स्वयं निर्दोष बनने का उपहास्यास्पद प्रयत्न करते हैं। ऐसी आत्म प्रवंचना से लाभ कुछ नहीं होता हानि अपार होती है। सबसे बडी हानि यह कि अपने को अभागा मानने वाला मनुष्य आशा के प्रकाश से हाथ धो बैठता है और निराशा के अंधकार में भटकने के कारण इष्ट प्राप्ति से कोसो दूर पीछे रह जाता है। बाधाएं, कठिनाईयां, असफलताएं एक प्रकार की कसौटी है, जिन पर पात्र-कुपात्र की, खरे-खोटे की परख होती है, जो कसौटी पर खरे उतरते हैं सफलता के अधिकारी वे ही होते हैं।आप ये ख़बरें और ज्यादा पढना चाहते है तो दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे..कृपया एप और साईट के बारे में info @royalbulletin.com पर अपने बहुमूल्य सुझाव भी दें…

Share it
Top