अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol vachan logoसबको ज्ञान है कि एक दिन मृत्यु आयेगी फिर भी धर्म विरूद्ध कार्यों में संलिप्त हैं। पाप करने से बाज नहीं आ रहे हैं। यथार्थ है सारे लोक लोकान्तरों के सब प्राणी मौत के मुख में समा रहे हैं, समाते जा रहे हैं। जरा आंख बंद करके इस सच्चाई को सोचा जाये कि हम सभी एक साथ प्रभु की कालाग्रि में सरक रहे हैं। कोई आज मरने वाला है तो कोई कल बस समय का थोडा फासला है। सच यही है कि हम सब लाशे हैं जिन पर तारीखे लिखी हैं कि कब घोषणा हो जायेगी। लाशे चल रही हैं, गिर रही हैं, उठ रही हैं, कांप रही हैं, क्योंकि वह तारीख अभी थोडे दिनों के बाद है। रूसी सन्त गुरू जियाफ का कहना था कि यदि सारी धरती को धार्मिक बनाना हो तो एक उपाय है वैज्ञानिक सारी चिंताएं छोड एक मशीन खोज लें, जो घडी की तरह हो जिसे हर आदमी के हाथ पर बांध दिया जाये जो हमेशा बांधने वाले को बताती रहे कि मौत कितने करीब है। उसका कांटा निरन्तर घूमता रहे। यह खोज कठिन अवश्य है, परन्तु असम्भव नहीं। ऐसा हो जाये तो समझो कि परमात्मा का कालाग्रि मुख सबको, सर्वत्र, सब ओर, सभी दिशाओं में एक साथ अनुभव होता रहेगा और हम पाप से बचे रहेंगे।

Share it
Top