अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol vachanमधुर जीवन ही सफल जीवन है। व्यवसाय की सफलता, पद प्रतिष्ठा की सफलता, जीविका की सफलता, भौतिक आध्यात्मिक सभी तरह की सफलता जीवन की माधुरी पर निर्भर है और मधुर जीवन वह है, जिसके विचार, उच्चार (वाणी) और आचार में माधुरी हो। तुम कल्याण मत्र विचारों को ही अपने मन में स्थान दो। कल्याणमयी प्रिय वाणी में ही बात करो, प्रत्येक मनुष्य के साथ प्रेम, प्रसन्नतापूर्वक, शिष्ट, तथा सभ्यता के साथ व्यवहार करो यही विचार उच्चार आचार की मधुरता है। तुम्हारी यह मधुरता तुम्हारे लिए न केवल तुम्हारे अन्तराल से मधुरता और सफलता के स्रोत खोल देगी। वरन संसार की अनेक अनजानी, अनसुनी दिशाओं से भी परिचित करा देगी। तुम देखोगे कि तुम्हारे इस आकर्षक व्यवहार के कारण तुम्हारे से अपरिचित लोग भी तुम्हारी सफलता के सहायक होने के लिए तुम्हारी ओर दौडे चले आयेंगे, क्योंकि तुम्हारे व्यक्तित्व में वह कशिश पैदा हो जायेगी, जिसमें तुम्हारे से अन्जान लोग भी तुम्हारी ओर आकर्षित होंगे।

Share it
Share it
Share it
Top