अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol vachan1कभी सोचा है हमारे भीतर अशान्ति और अस्थिरता का कारण क्या है, उत्तर है हमारे अंदर का अहंकार जिसे जन्म देने वाले हैं रूप, यौवन, धन, पद, अधिकार परन्तु ये सब चीजें तुच्छ हैं, अस्थिर हैं, इन सबसे सच्चा सुख कभी मिलने वाला नहीं। इसलिए इनमें मन न लगाओ। दूसरों के मन में क्या है इसे जानने की उलझन में मत पडों। तुम केवल अपनी अन्र्तरात्मा को देखो, उसे पहचानने का प्रयत्न करो। अपनी आत्मा को किस प्रकार लाभ पहुंचेगा, उसका उपाय करो। इसका ज्ञान न होने के कारण ही मनुष्य दुखी रहता है। मनुष्य का ह्रदय भी यदि शुद्ध पवित्र है तो वह कोई भी कार्य करेगा, उसे सफलता मिलेगी। आवश्यकता केवल इस बात की होती है कि आप एकाग्र होकर अपनी केन्द्रित ऊर्जा से ही कोई कार्य करें। यदि आप कठिन से कठिन कार्य में ऐसा करके सफल हो जाते हैं तो प्रभु का धन्यवाद करें, परन्तु अपने हित के लिए उस सफलता पर अहंकार न करें।

Share it
Share it
Share it
Top