अनमोल वचन

अनमोल वचन

anmol vachan3आप अपनी विपत्तियों की गाथा सुनाकर किसी से सहायता तथा सहानुभूति की आशा रखेंगे तो बहुधा आपको निराश ही होना पडेगा। दुनिया में हर किसी के पास अपनी समस्याएं हैं, वह दूसरों की समस्याओं और मुसीबतों को सुनकर हैरान होना नहीं चाहता, हां आप मीठी बातें कहकर, मधुर तान सुनाकर, प्रसन्न मुख मुद्रा की आकर्षक आकृति दिखाकर, चुटकुले सुनाकर किसी भी प्रकार सुख शांति का एक वातावरण तैयार कर दीजिए फिर तो हर कोई आप पर रीझकर आपकी हर मुराद पूरी कर देगा। कोई व्यक्ति किसी व्यापार व्यवसाय में हो, निजी क्षेत्र अथवा सरकारी नौकरी में हो, हर कहीं वही सफल होता है, जो मुस्कराहट से भरा होता है। मुंह लटकाये रहने वाले को कोई पसंद नहीं करता। अपने मृदुल और खुशदिल व्यवहार से दूसरों का दिल जीतो। अपनी विपत्तियों का रोना रोकर दूसरों को उबाओ मत। तुम भी तो दूसरों की तरह अमृत पुत्र हो, परमात्मा का अंश हो, इसलिए अपने को छोटा, मत मानो, अपनी शक्तियों को संकीर्ण दृष्टि से न देखों। आपके भीतर भी इतनी ऊर्जा है, इतना विवेक है, जो अपनी समस्याओं का समाधान स्वयं ढूंढ सके।

Share it
Top