अनमोल वचन

अनमोल वचन

आदमी जानता नहीं कि वह कितनी बडी शक्तियों का स्वामी है, जो उसके भीतर बीज रूप में छिपी पडी है। जब उसका विश्वास जागृत हो जायेगा तो वह असम्भव माने जाने वाले कार्यों को भी अपनी उन शक्तियों के बल पर सम्भव बनाने में सफल हो जायेगा। हमें अपनी शक्तियों और अपने ऊपर विश्वास होना चाहिए। वास्तव में विश्वास मनुष्य की शक्तियों को जगाता है, जो मनुष्य का सम्बन्ध ईश्वरीय स्रोत से जोड देती है, जिससे सफलता के दरवाजे खुल जाते हैं। विश्वास न तो सोचता है और न अनुमान लगाता है। विश्वास तो केवल विश्वास करना ही जानता है और मनुष्य को सफलता के मार्ग की ओर अग्रसर करता है। मनुष्य जब अपने भीतर की छिपी शक्तियों के स्रोत को जान लेता है तो वह देवतुल्य बन जाता है। विश्वास के जागृत होते ही आत्मा में छिपी शक्तियां खिल उठती हैं। हमारे अन्दर के श्रेष्ठ विचार महत्वपूर्ण कार्य के रूप में परिणित हो जाते हैं। इसके विपरीत अपने प्रति अविश्वास से तो शक्ति के उपलब्ध स्रोत भी सूख जाते हैं, जिसके कारण लोग दीन और दरिद्र बने रहते हैं। इसलिए धैर्य के साथ अपने आत्मविश्वास को जगाईये, फिर देखिये अपने भीतर की शक्तियों का चमत्कार।

Share it
Top