अनमोल वचन

अनमोल वचन

यह सच है कि प्रत्येक व्यक्ति कुछ न कुछ अच्छा बनना चाहता है। आप भी अवश्य कुछ बनने की कामना रखते होंगे। इसके लिये आपको अपने भीतर अतिरिक्त विशेषताएं और गुण पैदा करने होंगे। उन विशेषताओं में से एक गुण सादगी भी है, जिसके दम पर बहुत कुछ पाया जा सकता है। इन्सान के गुण सदैव याद रखे जा सकते हैं, उसकी योग्यताएं हमेशा स्मरणीय रहती हैं। इन्सान की खूबसूरती अथवा बदसूरती बहुत पीछे रह जाती है। जीवन में अपने को बढा चढाकर कौन प्रस्तुत नहीं करता। स्कूल, कालेज, व्यापार, मन्दिर और अस्पताल तक में दिखावे की होड मची है। वहां भी भव्यता का ज्वर चल रहा है। इस सबसे थोडे समय के लिये कुछ सन्तुष्टि मिल सकती है। स्थायी तौर पर वहां आपका वर्चस्व बना नहीं रह पाता। नाम तो आपके ऊंचे कर्मों से ही माना जायेगा। दिखावे के लिये किया गया त्याग अथवा दान आपके नाम को स्थायित्व नहीं दे पायेगा। जीवन में ऐसे बहुत से लोग हैं, जिन्होंने सादगी और सच्चाई के दम पर बहुत कुछ पाया है और ऐसे भी बहुत हैं, जिन्होंने भव्यता दिखाने के नाम पर बहुत कुछ गंवाया है, इसलिए सादगी और सच्चाई के महत्व को समझना जरूरी है।

Share it
Top