अनमोल वचन

अनमोल वचन

विचारों का हमारे जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है। अपने सुख-दुख, हानि-लाभ, उन्नति-अवनति, सफलता-असफलता सभी कुछ तो हमारे अपने विचारों पर निर्भर है। जैसे विचार होते हैं, वैसा ही हमारा जीवन बनता है। संसार कल्पवृक्ष है। इसकी छाया तले बैठकर हम जो भी विचार करेंगे, परिणाम भी उसी के अनुसार प्राप्त होंगे। जो अपने को सद्विचारों से भरे रखते हैं, वे पग-पग पर जीवन के महान वरदानों से विभुषित होते हैं। सफलता, महानता, सुख-शांति, प्रसन्नता के परितोष उन्हें प्राप्त होते हैं। इसके विपरीत जो मनुष्य अपने भाव को हीन, अभागा और बदकिस्मत समझते हैं, उनका जीवन भी दीन हीन बन जाता है। विचारों से गिरे हुए व्यक्ति को तो परमात्मा भी नहीं उठा सकता। जो आदमी अन्धकारमय, निराशावादी विचार रखते हैं, उनका जीवन भी कभी उन्नत और उत्कृष्ट नहीं बन सकता। मनुष्य को वही प्राप्त होता है, जैसे उसके विचार होते हैं। इसलिए परिस्थितियां कैसी भी आयें, हमें अपने विचारों को आशावादी, शक्तिशाली तथा उत्कृष्ट बनाये रखना चाहिए। निराशा का भाव हममें कभी आना ही नहीं चाहिए।

Share it
Top