अनमोल वचन

अनमोल वचन

अपना जीवन ईश्वर को अर्पण कर दे। जो भी काम करे, प्रभु का समझकर करे। यदि परमात्मा की भक्ति में थोडा समय लगाना लाभकर है तो सोचिये सारा समय प्रभु हेतु लगाना कितना लाभ का होगा। यदि आप प्रभु की सेवा में कुछ पत्र पुष्प चढाना सुखकर और संतोषदायक समझते हैं तो अपनी सारी सम्पदा उनके चरणों में रखना कितना सुखकर। यदि पवित्रता ईमानदारी और बुद्धिमानी की किसी क्षण भी आवश्यकता है तो इन्हें हर समय प्रयोग में लाना कितने उच्च स्तर पर ले जायेगा। जीवन का इससे अच्छा और क्या उपयोग हो सकता है कि उसका प्रत्येक क्षण प्रभु की सेवा में लगे। प्रत्येक कार्य, विचार और हमारा प्रत्येक शब्द उनकी सेवा के लिये हो। यह कार्य आप आज से और अभी से आरम्भ कर सकते हैं। न भविष्य के लिये बडे-बडे मनसूबे बांधिये और न व्यर्थ की चिंताओं में पडिये। सब कुछ ईश्वर को अर्पण करके उसकी आज्ञा के अनुसार उसकी इच्छा की पूर्ति के लिये कीजिए। इससे आपके जीवन में आनन्द, शांति, मधुरता और विश्वास का प्रवेश होगा। आपका जीवन महान हो, इसके लिये आवश्यक है कि आपके पास साहस का भंडार हो। जब आपको विश्वास हो जायेगा कि आपकी शक्ति अनन्त है, तब अपनी विशालता के कारण बडे से बडे कठिन कार्य भी आपको साधारण जान पडेंगे।

Share it
Share it
Share it
Top