अनमोल वचन

अनमोल वचन

आप कोई भी कार्य करें, यदि उसमें निष्ठा और समर्पण होगा तो सफलता निश्चित मानिये। निष्ठा और समर्पण होने से हम सफलता के प्रयास पूरे मनोयोग से करेंगे। जितने मनोयोग से कर्म किया जायेगा, उसका फल भी उसी के अनुरूप प्राप्त होगा। यदि आपका मन मजबूत है और आप उसे किसी पदार्थ पर एकाग्र करते हैं तो आप उसे ही प्राप्त करेंगे। आप जो कुछ भी काम करते हैं, आपकी स्थिति, दशा, परिस्थिति, किस्मत सब उसी के अनुसार बनती जाती है। हम जीवन की समस्त शक्तियों को जिस लक्ष्य के लिये केन्द्रित करते हैं, उसी लक्ष्य की प्राप्ति होती है। अपने मन से इस विचार को निकाल दें कि उन्नति करने का अधिकार उन्हीं लोगों का है, जिनके पास धन है, जिनके पास साधन हैं या जिनके पास अच्छे अवसर हैं। योग्यताएं और भाग्य की बात मत कीजिए। आपके पास सब कुछ है। आपको केवल अपनी मानसिक शक्तियों के बीज को पहचानना है और उन्हीं का विकास करना है। आपको सफलता अवश्य ही प्राप्त होगी। विराट वट वृक्ष की शक्ति उसके सूक्ष्म बीज में छिपी रहती है। यही सूक्ष्म सा बीज अनुकूल परिस्थितियां प्राप्त कर विशाल वृक्ष के रूप में प्रफुटित होता है। यह सभी जानते हैं।    

Share it
Top