अनदेखी न करें युवा होती बेटी में हो रहे परिवर्तनों को

अनदेखी न करें युवा होती बेटी में हो रहे परिवर्तनों को

अब आपकी बेटी वह पहले वाली मासूम, चुलबुली, नटखट सी बच्ची नहीं रही। वह बड़ी हो रही है। बड़ी होने के साथ-साथ उसमें, उसके स्वभाव में, उसके व्यवहार में, उसकी हर चीज में परिवर्तन हो रहा है।
अब इनमें से कुछ परिवर्तन तो स्थायी होते हैं पर कुछ ऐसे होते हैं जो अस्थायी होते हैं और किसी घटना विशेष के कारण होते हैं। ऐसे परिवर्तनों पर आपकी नजर जरूरी है। यह आपके भी हित में है और आपकी बिटिया के भी।
इन अचानक आने वाले परिवर्तनों के अनेक कारण हो सकते हैं
– आपकी बेटी अपनी पढ़ाई, करियर आदि के प्रति बहुत गंभीर है और उसमें सफलता के लिए प्रयासशील है, आपकी बेटी को वांछित सफलता नहीं मिल रही। इसी कारण उसमें निराशा आ रही है।
– आपकी बेटी आपके/घर के अन्य सदस्यों के व्यवहार से संतुष्ट नहीं है एवं विद्रोह करना चाहती है/कर सकती है।
– आपकी बेटी का किसी युवक (कई मामलों में युवक न होकर बड़ी उम्र का व्यक्ति भी हो सकता है) के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है।
पति के साथ शापिंग करते समय
– आपकी बेटी को उसके प्रेमी ने धोखा दिया है या वह मन ही मन जिससे प्रेम करती है, उसके साथ विवाह करने में उसे समस्या आ रही है।
आपकी बेटी को कोई समस्या है (जैसे यौन शोषण आदि) जो वह आपको बताने में डर रही है।
अब आपको देखना है कि आप कैसे उसकी समस्या की जानकारी लेती हैं और कैसे उसका समाधान करती हैं। उसकी समस्या को जानने के लिए जबरदस्ती करने की भूल तो कभी न करें वरना बात और भी बिगड़ सकती है। आपसे झूठ बोलने के चक्कर में वो गलत राह पर जा सकती है।
किशोरवय का प्यार
इसके लिए बेहतर तो यही है कि आप खुद उसकी दोस्त बनें, ऐसी दोस्त जिसे स्वयं वो अपनी सारी समस्या बताना चाहे। ऐसी संभावना न हो तो उसके मित्रों आदि से बात करें। उसकी गतिविधियों पर नजर रखें। वह कहां आती-जाती है, किससे मिलती-जुलती है, आदि पर ध्यान दें और उसकी गतिविधियों का विश्लेषण करें। समस्या की जानकारी हो जाने पर उसके समाधान के बारे में सोचें। जहां जरूरत समझें, अपने पति की मदद लें।
इस तरह अपनी बेटी में हो रहे परिवर्तनों पर ध्यान देकर न सिर्फ उसे भटकने से बचा सकेंगी वरन उसे उसकी मंजिल पाने में भी मदद कर पाएंगी।
– विजय बजाज

Share it
Top