अजवायन से घरेलू उपचार

अजवायन से घरेलू उपचार

अजवायन का प्रयोग प्रत्येक रसोईघर में मसाले के रुप में किया जाता है। यह जिगर, आमाशय तथा अंतडिय़ों की बहुत सी बीमारियों में लाभ पहुंचाती है। छोटे बच्चों के लिए तो इसे अक्सर इस्तेमाल में लाया जाता है। यह भोजन को पचाती है तथा अफारा दूर करती है।
पेट दर्द व गैस – अजवायन को नींबू के रस में भिगोकर सुखा लें। बारीक पीस कर काला नमक, हींग व सादा नमक मिलाएं। एक चम्मच चूर्ण गुनगुने पानी से लेने से गैस में तुरंत फायदा होता है।
कान का दर्द – अजवायन को तिल के तेल में पकाकर छान लें। कान में 2-3 बूंद गुनगुने तेल की डालें। यदि कान में फुंसी हो तो वह पककर फूट जाती है।
काली खांसी – 10 ग्राम अजवायन, 3 ग्राम नमक पीसकर 40 ग्राम शहद में मिलाएं। दिन में 3-4 बार थोड़ा-थोड़ा चाटने से खांसी में फायदा होगा।
अजीर्ण, अफारा – सोंठ, काली मिर्च, लाहौरी नमक, सफेद जीरा, काला जीरा, अजवायन, पिप्पली, घी में भुनी हींग 25-25 ग्राम का महीन चूर्ण बना लें। एक-डेढ़ ग्राम गरम पानी से लेने से अजीर्ण व अफारा में फायदा होता है।
बंद जुकाम – अजवायन को तवे पर गर्म करके कपड़े की पोटली बनाकर सूंघने से छीकें आकर बंद नाक खुल जाती है। यदि जुकाम से सिरदर्द हो तो दूर हो जाता है।
बाल कथा: गीदड़ ले कर चला बरात

बिच्छू का जहर – अजवायन को पानी में पीसकर बिच्छू के डंक मारे हुए स्थान पर लगाने से दर्द दूर हो जाता है।
आंतों की सूजन – जिगर, तिल्ली तथा आंतों की सूजन दूर करने के लिए पुराना बुखार वाला नुस्खा 10 दिन तक प्रयोग करें।
गले की सूजन – गर्म पानी से एक चम्मच अजवायन 3-4 बार एक सप्ताह तक प्रयोग करने से गले की सूजन दूर हो जाती है।
वायु शूल – अजवायन के तेल की मालिश करने से वायु से होने वाला दर्द दूर हो जाता है।
पेट के कीड़े – अजवायन का चूर्ण 5 ग्राम छाछ के साथ लेने से पेट के कृमि नष्ट हो जाते हैं।
खांसी – अजवायन चबाकर उसके ऊपर गरम पानी पीने से खांसी का वेग कम होता है।
पथरी – अजवायन को मूली के रस में मिलाकर खाने से पथरी गलकर निकल जाती है।
चर्म रोग – अजवायन को पीसकर दाद, खाज, खुजली आदि चर्म रोगों पर लगाने से लाभ होता है।
रायता बनाइए और खिलाइए

दांत का दर्द – अजवायन का तेल रुई में लगाकर दांत के नीचे रखकर लार टपकाने से लाभ होता है। अजवायन को जलाकर छान लें। इसे दांतों पर मलने से मसूड़े स्वस्थ बनते हैं।
सिरदर्द – अजवायन के पत्ते पीसकर लेप करने से सिरदर्द दूर होता है।
जोड़ों का दर्द – अजवायन के तेल की मालिश करने से जोड़ों का दर्द, जकडऩ व शरीर के विभिन्न भागों में दर्द आदि में लाभ होता है।
सूखी खांसी – अजवायन को पान में रखकर खाने से सूखी खांसी में लाभ होता है।
– अनीता रानी अग्रवाल

Share it
Top