अखिलेश के शासनकाल में महिलायें सुरक्षित नहीं: भाजपा

अखिलेश के शासनकाल में महिलायें सुरक्षित नहीं: भाजपा

जौनपुर । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सरकार में महिलायें सबसे अधिक असुरक्षित और पीड़ित हैं । भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश महामंत्री अनुपमा जायसवाल ने कल यहां आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) की सरकार शासन के दौरान महिलाये सुरक्षित नही है । महिलाओं के साथ दुराचार की घटनायें आये दिन होते रहते है । महिलाओं का घर से बाहर निकलता दूभर हो गया है । उन्होने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 2012 में महिला सुरक्षा और उनके सम्मान के नाम पर सत्ता में आये थे लेकिन वह महिलाओं के प्रति अपने कर्तव्यों और उनसे किये गये वायदों को भूल गये ।
लखनऊ में झोपड़ी में आग लगने से एक ही परिवार के चार सदस्यों की जलकर मृत्यु
सपा की सरकार में महिलायें सबसे अधिक असुरक्षित और पीड़ित हैं। श्रीमती जायसवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ढाई साल का शासन काल में जहाँ महिला सशक्तिकरण के लिए बालिका योजना और उज्ज्वला योजना चला रही हैं, वहीं प्रदेश में बुलन्दशहर और आगरा की घटना के सम्बंध में अमर्यादित टिप्पणी करने वाले सपा सरकार में मंत्री आज़म खान को उच्चतम न्यायालय में सार्वजनिक माफ़ी मांगनी पड़ी ।
गुजरात में एक करोड से अधिक की नकदी बरामद
उन्होंने कहा कि 2017 के विधान सभा चुनाव में भाजपा अपने सहयोगी दलों के साथ पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी । इस अवसर पर मुंगराबादशाहपुर की विधायक सीमा द्विवेदी ने कहा कि शास्त्रों में भी वर्णित है जहाँ महिलाओं सम्मान होता हैं वहीं भगवान का निवास होता हैं। उन्होंने महिलाओं से कहा कि उन्हें समाज में मान, पद और प्रतिष्ठा प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी और स्वयं संघर्ष करना पड़ेगा । कार्यक्रम में सुमन सिंह ने कहा की महिलाओं को अपने स्वाभिमान की लड़ाई ख़ुद लड़ना होगा। कार्यक्रम संयोजक एवं ज़िला उपाध्यक्ष श्रीमती किरन श्रीवास्तव कहा कि महिला शक्ति में देश की शक्ति निहित हैं।
add-royal-copy

Share it
Share it
Share it
Top