अक्षय ने 11 छक्कों सहित ठोके नाबाद 211

अक्षय ने 11 छक्कों सहित ठोके नाबाद 211

नई दिल्ली। अक्षय सैनी के 117 गेंदों पर 11 छक्कों और 18 चौकों की मदद से बनाए गये आतिशी नाबाद 211 रन और दिल्ली के रणजी खिलाड़ी विकास मिश्रा की घातक गेंदबाजी (22 रन पर छह विकेट) की बदौलत जीवन ज्योति इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्ससिस, बहादुरगढ़ (हरियाणा) ने शिवाजी कालेज मैदान पर खेले जा रहे 27वें अखिल भारतीय स्पेरी ओम नाथ सूद स्मृति क्रिकेट टूर्नामेंट में मद्रास क्रिकेट क्लब को इस टूर्नामेंट के इतिहास की 291 रन की सबसे बड़ी हार देकर मंगलवार को प्री क्वॉर्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।
पहले बल्लेबाजी करते हुए जीवन ज्योति इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्ससिस (जेजेआईएमएस) ने निर्धारित 40 ओवर में तीन विकेट पर टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर 419 रन बनाया। इससे पूर्व 25 अप्रैल 2006 को ओएनजीसी ने आईसीएल, पंचकुला (हरियाणा) के खिलाफ 40 ओवर में सात विकेट पर 357 रन बनाए थे। 420 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मद्रास क्रिकेट क्लब की टीम 30.2 ओवर में मात्र 128 रन पर ही सिमट गई। अक्षय सैनी ने नाबाद 211 रन बनाकर इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया।
आ गए किसानों के अच्छे दिन..यूपी के 2.15 करोड़ किसानों का एक लाख तक का कर्ज माफ..!
इससे पूर्व यह रिकॉर्ड ओएनजीसी के मिथुन मन्हास के नाम था जिन्होंने 25 अप्रैल 2006 को ही आईसीएल, पंचकूला के खिलाफ 179 रन की पारी खेली थी। अक्षय इस टूर्नामेंट के इतिहास में पहला ऐसा बल्लेबाज बन गया जिसने पहली गेंद से लेकर पारी की अंतिम गेंद तक बल्लेबाजी की। अक्षय ने एक पारी में सर्वाधिक 11 छक्के लगाने की बराबरी भी की। इससे पूर्व राजस्थान के अर्जित गुप्ता ने 22 अप्रैल 2014 को सोनेट क्रिकेट क्लब के खिलाफ एक पारी में 11 छक्के लगाए थे। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए जेजेआईएमएस ने शानदार शुरुआत की। ओपनर अक्षय सैनी ने बंगाल के रणजी खिलाड़ी अभिमन्यु ईश्वरन (72 रन) के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 84 गेंदों में 121 रन जोड़ डाले। इसके बाद अक्षय ने राजेश शर्मा (112) के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए न केवल 130 गेंदों पर 222 रन जोड़े बल्कि टीम के स्कोर को 400 के पार पहुंचाने में अहम् भूमिका अदा की।
त्रिपुरा में बारिश और चक्रवाती तूफान से 2 मरे, 16 घायल
राजेश ने 67 गेंदों की अपनी पारी में 13 चौके और चार छक्के लगाये। पहाडऩुमा लक्ष्य का पीछा करने उतरी मद्रास क्रिकेट क्लब की टीम विकास मिश्रा की घातक गेंदबाजी के चलते 30.2 ओवर में मात्र 128 रन पर ही सिमट गई। मन्नत वीर सिंह ने 45 गेंदों पर सात चौकों की मदद से 43 रन की नाबाद पारी खेली। विकास मिश्रा ने आठ ओवर में 22 रन देकर छह विकेट झटके।

Share it
Top