अक्टूबर में पर्यटकों की संख्या में 86.4 प्रतिशत की वृद्धि

अक्टूबर में पर्यटकों की संख्या में 86.4 प्रतिशत की वृद्धि

m-tourist-visa2015-h-newनई दिल्ली। देश में ई-पर्यटक वीजा पर आने वाले पर्यटकों की संख्या में इस वर्ष अक्टूबर में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 86.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
पर्यटन मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले साल अक्टूबर में एक लाख पांच हजार 268 पर्यटक ई-वीजा पर भारत आए जबकि इस साल इसी अवधि में 56477 पर्यटक देश में आए। इस तरह इस साल अक्टूबर में पर्यटकों की संख्या में पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 86.4 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई।
जनवरी से अक्टूबर,2016 के दौरान ई-पर्यटक वीजा पर कुल 7,80,570 पर्यटक आये जबकि पिछले साल इस अवधि में यह संख्या 2,58,182 थी। इस तरह पर्यटकों की संख्या में 202.3 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है। यह बढ़ोतरी 150 देशों के लिए ई-पर्यटक वीजा की पेशकश करने से ही संभव हुई है जबकि पहले यह संख्या केवल 113 ही थी।
शिवपाल बोले …’मैं समझ गया हूं कि कुर्सी ही सब कुछ होती है’
इस साल अक्टूबर के दौरान ई-पर्यटक वीजा सुविधा का लाभ उठाने वाले देशों में ब्रिटेन 22. 9 प्रतिशत के साथ लगातार शीर्ष पर है। उसके अमेरिका (12.1 प्रतिशत) दूसरे और फ्रांस(6.6 प्रतिशत) तीसरे स्थान पर है। उनके बाद चीन (5.8 प्रतिशत), रूस संघ(5.6 प्रतिशत), जर्मनी (5.5 प्रतिशत), ऑस्ट्रेलिया (4.5 प्रतिशत),कनाडा (3.6 प्रतिशत), स्पेन (2.3 प्रतिशत) और नीदरलैंड (2.1 प्रतिशत) का स्थान रहा।ई-पर्यटक वीजा सुविधा देश के 16 हवाई अड्डों पर 150 देशों के नागरिकों के लिए उपलब्ध है। इस साल अक्टूबर के दौरान ई-पर्यटक वीजा पर आए पर्यटकों के मामले में शीर्ष 10 हवाई अड्डों की हिस्सेदारी प्रतिशत में निम्नलिखित रही- नयी दिल्ली (51.67 प्रतिशत), मुंबई (18.65 प्रतिशत), डाबोलीन (गोवा) (6.20 प्रतिशत) बेंगलुरु (5.18 प्रतिशत), चेन्नई (4.97 प्रतिशत), कोच्चि (3.15 प्रतिशत), अमृतसर (2.42 प्रतिशत) हैदराबाद (2.18 प्रतिशत),कोलकाता (2.08 प्रतिशत) और तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डा (1.28 प्रतिशत)।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयलunnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.].

Share it
Top