अंतर्राष्ट्रीय एजेंडा तय करना ब्रिक्स की जिम्मेदारी: मोदी

अंतर्राष्ट्रीय एजेंडा तय करना ब्रिक्स की जिम्मेदारी: मोदी

 हांगझाऊ, (चीन)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं के संगठन ब्रिक्स को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रभावशाली बताते हुये आज कहा कि अंतरराष्ट्रीय एजेंडा तय करना उसकी जिम्मेदारी है।
जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेने यहाँ आये श्री मोदी ने सम्मेलन से इतर ब्रिक्स देशों की बैठक को संबोधित करते हुये कहा, यह हमारी साझा जिम्मेदारी है कि हम अंतरराष्ट्रीय एजेंडा इस तरह तैयार करें जिससे विकासशील देशों को उनका लक्ष्य हासिल करने में मदद मिले। भारत के अलावा ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका ब्रिक्स के सदस्य हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि ब्रिक्स के अध्यक्ष के रूप में उत्तरदायी, समावेशी एवं सामूहिक समाधान को हमने थीम के रूप में चुना है जो जी-20 देशों की केन्द्रीय प्राथमिकताओं को भी परिलक्षित करता है। हमने ब्रिक्स को राजधानियों से दूर पहुँचाया है जिससे इसमें सभी क्षेत्र के लोगों को इसका हिस्सा बनाया जा सके। यह बिम्सटेक (बे ऑफ बेंगॉल इनिसिएटिव फॉर मल्टी-सेक्टोरल टेकनिकल एंड इकोनॉमिक कोऑपरेशन) देशों के साथ हमारे संबंध और प्रगाढ़ करने का भी अवसर होगा। बिम्सटेक में भारत के साथ बंग्लादेश, भूटान, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका और थाईलैंड शामिल हैं। श्री मोदी ने अपने भाषण के अंत में सभी नेताओं को अगले महीने गोवा में होने वाली ब्रिक्स की बैठक के लिए आमंत्रित किया।

Share it
Top